There is no question of returning to China, said Dalai Lama

चीन लौटने का कोई सवाल ही नहीं, बोले दलाई लामा, तवांग झड़प पर भी दिया बयान/There is no question of returning to China, said Dalai Lama, also gave statement on Tawang clash

Dalai Lama On India-China Clash: तवांग सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प को लेकर तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा (Dalai Lama) का बयान सामने आया है. जब Dalai Lama से तवांग गतिरोध के मद्देनजर चीन के लिए उनके संदेश के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चीजें सुधर रही हैं. यूरोप, अफ्रीका और एशिया में चीन अधिक लचीला है।

दलाई लामा (Dalai Lama) ने कहा कि उनके चीन लौटने का कोई मतलब नहीं है. वह भारत को पसंद करते हैं. पंडित नेहरू की पसंद कांगड़ा की उनका स्थायी निवास है और वह इस जगह को बेहद पसंद करते हैं. इससे पहले भी उन्होंने कहा था कि 62 सालों से ज्यादा समय से भारत उनका घर रहा है और उसमें से ज्यादातर वक्त वह यहां धर्मशाला में रहने में खुश हैं।

तवांग मठ के भिक्षुओं ने दी थी चीन को चेतावनी

इससे पहले तवांग मठ के भिक्षुओं ने भी इस मुद्दे को लेकर चीन को चेतावनी दी थी. उनका कहना था कि ये 1962 नहीं, 2022 है. इस वक्त पीएम मोदी की सरकार है. तवांग मठ के एक भिक्षु लामा (Dalai Lama) येशी खावो ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी को नहीं बख्शेंगे. अगर चीन दुनिया में शांति चाहता है तो उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए।

तवांग मुद्दे को लेकर देश में सियासत तेज

वहीं, तवांग मुद्दे को लेकर देश में सियासत भी अपने चरम पर है. लगातार इसे लेकर लोकसभा और राज्यसभा में जमकर हंगामा जारी है. विपक्ष लगातार मामले में चर्चा की मांग पर अड़ा हुआ है. लोकसभा से लेकर राज्यसभा में हंगामा हो रहा है. एक तरफ सरकार का कहना है कि रक्षा मंत्री इस मामले पर अपना बयान दे चुके हैं वहीं, दूसरी तरफ विपक्ष का कहना है कि वो राजनाथ सिंह के बयान से संतुष्ट नहीं हैं और उन्हें इस मामले पर सरकार से चर्चा करनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *