Raigarh news

Raigarh news: छत्तीसगढ़ की कला व संस्कृति को मिल रहा व्यापक मंच/Raigarh news: The art and culture of Chhattisgarh is getting a wide platform

नगर निगम आडिटोरियम में जिला स्तरीय रामायण मंडली गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें विकासखंड स्तरीय प्रतियोगिता की विजेता सात मंडलियों ने प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल थे। इस अवसर पर कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा व सीईओ जिला पंचायत अबिनाश मिश्रा उपस्थित रहे। प्रतियोगिता में घरघोड़ा विकासखण्ड के ‘सजे मैया के दरबार’ कंचनपुर की मंडली विजेता रही। 50 हजार रुपये का चेक पुरस्कार स्वरूप प्रदान किया गया तथा शेष प्रतिभागी टीमों को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल ने जिला स्तरीय प्रतियोगिता में पहुंचने वाले प्रतिभागियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हार जीत तो होती रहती है, हमें हमेशा अपना शत-प्रतिशत देना चाहिए। उन्होंने विजयी प्रतिभागियों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जीत कर जिले का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की पारंपरिक व सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देकर प्रदेश को राष्ट्रीय पटल पर एक नई पहचान दिलायी है।

जानिए क्या कहा कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि गत दो वर्षो से यह आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने प्रतिभागियों को जिला स्तरीय प्रतियोगिता में जीत की बधाई दी। उन्होंने कहा कि मानस मंडली के रुप में पंजीकृत प्रत्येक मंडली को शासन द्वारा पांच हजार प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम जब वनवास पर निकले तो छत्तीसगढ़ से होकर भी गुजरे।

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा ऐसे सभी स्थानों को चिन्हांकित कर उन्हें राम वन गमन परिपथ के रूप में विकसित किया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के उत्तरी छोर से दक्षिणी छोर तक के स्थान शामिल है। इसी कड़ी में प्रदेश में रामायण मंडलियों की यह गायन प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है। जिससे छत्तीसगढ़ के गांव में प्रचलित रामायण भजन गायन की यह पीढ़ियों पुरानी परंपरा को एक व्यापक मंच मिले तथा इससे जुड़े कलाकार अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सके। इस वर्ष राज्य स्तरीय प्रतियोगिता राजिम में आयोजित की जानी है। उन्होंने जिले के विजयी मंडली को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दी।

ये रहा परिणाम

सहायक आयुक्त आदिवासी विकास अविनाश श्रीवास ने बताया कि जिला स्तरीय प्रतियोगिता में विकासखण्ड घरघोड़ा के सजे मैय्या के दरबार कंचनपुर-प्रथम रहा। विकासखण्ड तमनार के सागर मानस मण्डली बरपाली-द्वितीय तथा पुसौर विकासखण्ड के पुसौर मारुति मानस मण्डली सरवानी तृतीय रहा। जिला स्तरीय प्रतियोगिता में सात विकासखण्डों से मानस मण्डलियों ने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। विकासखंड धरमजयगढ़ से साई मानस मण्डली लिप्ती, पुसौर से पुसौर मारुति मानस मंडली सरवानी से ग्राम पंचायत बरपाली, खरसिया विकासखंड से श्री मानस मंडली नवापारा पश्चिम, घरघोड़ा विकासखंड से सजे मैया के दरबार कंचनपुर, तमनार विकासखंड से सागर मानस मंडली ग्राम बरपाली, लैलूंगा विकासखंड से शिव मानस मंडली पिपराही ग्राम पंचायत कोडकेल, रायगढ; विकासखंड से रामायण मंडली ग्राम पंचायत कांशीचुवां शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *